Thursday, December 19, 2013

Dard Kuch Kam Hota Nahi Kya Kare - Hindi Shayari

Dard Kuch Kam Hota Nahi Kya Kare
Itne Gamo Ke Baad Khush Hua Nahi Jata Kya Kare
Bhuley Kuch Aise Hame Bhulney Wale Ki Phir Na Lautey
Par Hum Se Aisi Khata Hoti Nahi Kya Kare
Rona To Hum Bhi Ab Nahi Chahtey Yaaro
Par Ab Hontho Ko Muskrana aata Nahi Kya Kare
Mili To Thi Hame Bhi Maziley Behad
Koyi Manzil Is Dil Se Na Mili To Kya Kare
Chuut Gaya Unse Haath Hamara, Chuta Jo Unka Saath
Ab Saathi Bhi Koyi Gawara Nahi, To Hm Kya Kare
Hum To Kar Lete Tum Sabka Bharosa Dosto
Par Ab Khud Par Bhi Bharosa Na Kar Paaye To Kya Kare
Dard Kuch Kam Hota Nahi Kya Kare
Itne Gamo Ke Baad Khush Hua Nahi Jata Kya Kare



Author: yk 


Via --- Like it and Get More Shayari  
@ https://www.facebook.com/Dil.Ki.Baat.Hindi.ShayariKeSaath 

Tuesday, June 4, 2013

रात के ख़्याल

फिर इक नयी रात है.. एक ख्याल है..इक बात है..
कोई चेहरा है धुंधला सा..कुछ जाना सा पहचाना सा..

आज ये सब मेरे साथ है.. कभी मन में कभी दिल में..

कभी तकिये के पास तो कभी धडकनों में...

बस इतनी सी ही तो बात है...

लेकिन महसूस हो रहा कुछ "ख़ास" है...

                 ....कुछ "ख़ास" है...!!


**
ज़िन्दगी दिखाती है राहें बहुत..

खड़े करती है सवाल भी बहुत..

किस राह जाऊं...किस दिशा जाऊं...

इसके अनगिनत सवालों के जवाब कहाँ से लाऊं...

कर देती है कई बार बड़ा बेचैन...

तभी तो ये ज़िन्दगी तड़पाती है बहुत...

Source: Unknown

Saturday, June 30, 2012

शिकायत है उन्हें कि हमें मोहब्बत करना नही आता- Hindi Shayari-2012

शिकायत है उन्हें कि हमें मोहब्बत करना नही आता,
शिकवा तो इस दिल को भी है
……… पर इसे शिकायत करना नहीं आता

Thursday, June 2, 2011

Hindi Sayari - दोस्ती तो सिर्फ एक इत्तफाक हैं ! यह तो दिलो की मुलाक़ात हैं !!

दोस्ती तो सिर्फ एक इत्तफाक हैं !  यह तो दिलो की मुलाक़ात हैं !!
दोस्ती नहीं देखती यह दिन हैं की रात हैं ! इसमें तो सिर्फ वफादारी और जज्बात हैं !!


तुम्हे हमारी याद कभी तो आती होगी ! दिल की धड़कन भी सायद बढ़ जाती होगी !!
कितना चाहा था हमने की साथ - साथ रहे ! यह सोच कर तुम्हारी भी आँख भर आती होगी !!


प्यार करने वालो की किस्मत ख़राब होती हैं !
हर वक़्त इन्तहा की घड़ी साथ होती हैं !!वक़्त मिले तो रिश्तो की किताब खोल के देखना !
दोस्ती हर रिश्तो से लाजवाब होती हैं !!


आँखों में आंसुओ को उभरने ना दिया ! मिट्टी के मोतियों को बिखरने ना दिया !!
जिस राह पे पड़े थे तेरे कदमो के निशान ! उस राह से किसी को गुजरने ना दिया !!
 
 
मोहब्बत के बिना ज़िन्दगी फिजूल हैं ! पर मोहब्बत के भी अपने उसूल हैं !!
कहते हैं मिलती हैं मोहब्बत में बहुत उल्फ़ते ! पर आप हो महबूब तो सब कबूल हैं !!

एक सच्चा दिल सब के पास होता हैं !

एक सच्चा दिल सब के पास होता हैं !
फिर क्यों नहीं सब पे विश्वास होता हैं !!
इंसान चाहे कितनो भी आम हो....!
वो किसी न किसी के लिए जरुर खास होता हैं !!

Tuesday, May 31, 2011

प्यास ऐसी की पी जाऊ आँखे तेरी ! - अब भी ताज़ा हैं जख्म सिने में !

(१) कुछ रिश्ते अनजाने में हो जाते हैं !
पहले दिल फिर जिंदगी से जुर जाते हैं !!
कहते हैं उस दौर को दोस्ती....!
जिसमे लोग जिंदगी से भी प्यारे हो जाते हैं !!

(२) समझ सका न कोई मेरे दिल को !
ये दिल यूँ ही नादान रह गया !!
मुझे कोई गम नहीं इस बात का !
अफसोस हैं की मेरा यार भी मुझसे अंजान रह गया !!

(३) उसको चाहते रहेंगे यूँ उम्र गुजर जायेगी !
मौत आएगी और जिंदगी ले जायेगी !!
मेरे मरने पे भी मेरे सनम को रोने न देना !
उसको रोते देख मेरी रूह तड़प जायेगी !!

(४) प्यास ऐसी की पी जाऊ आँखे तेरी !
नसीब ऐसा की हासिल जहर भी नहीं !!
बे ग़र्ज वफाए कोई हमसे पूछे...!
जिसे टूट के चाहा उसे खबर भी नहीं !!

(५) अब भी ताज़ा हैं जख्म सिने में !
बिन तेरे क्या रखा हैं जीने में...!!
हम तो जिन्दा हैं तेरा साथ पाने को !
वर्ना देर नहीं लगती हैं जहर मिने में !!

मुझे उसके पहलु में आशियाना न मिला !

(१) मुझे उसके पहलु में आशियाना न मिला !
उसकी झुल्फों की छाव में ठिकाना न मिला !!
कह दिया उसने बेवफा मुझको....!
जब उन्हें जानने का कोई बहाना न मिला !!

(२) समझ न सके उन्हें हम !
क्योकि हम प्यार के नशे में चूर थे !!
अब समझ में आया जिसपे हम जान लुटाते थे !
वो दिल तोरने के लिए मशहूर थे !!

(३) उदासी भी मुस्कान बन जायेगी !
रूकती हुई सांसे भी जान बन जायेगी !!
भेज दीजिये हवाओं में अपनी खुशबू !
वो ही हमारी ख़ुशी का फरमान बन जाएगी !!

(४) आपकी धड़कन से हैं रिश्ता हमारा !
आपकी साँसों से हैं नाता हमारा !!
भूल कर भी कभी भूल न जान !
आपकी यादों के सहारे हैं जीना हमारा !!

(५) चाहे प्यार कितनो भी दूर रहे !
प्यार के सिलसिले कभी न कम होंगे !!
जब भी लगे तुम तकलीफ में हो !
पलट कर देखना तेरे पीछे हम होंगे !!